Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

“धर्मा प्रोडक्शन” की फ़िल्म के लिए मुंबई की सुप्रसिद्ध कास्टिंग एजेंसी ‘जोगी फ़िल्म कास्टिंग’ इन्दौर में करेगी ऑडिशनमुख्यमंत्री डॉ यादव ने दिखायी संवेदनशीलता, काफिला रुकवाकर पीड़िता की सुनी समस्यामप्र के सबसे बड़े बिना कर के विकास बजट पर मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को मंत्री राकेश शुक्ला ने दिया धन्यवाद……मध्यप्रदेश का धार्मिक मुख्यालय उज्जैन होगाअनाथ आश्रम में हो रहे घोर अनियमितताओं और गंभीर आरोपों की जांच की मांग: कांग्रेस महासचिव राकेश सिंह यादव ने उठाए कई सवालGolden Temple में लगे खालिस्तानी नारे.इंदौर में नोटा के नंबर 1 आने पर कांग्रेस ने केक काटकर मनाया जश्न .सलमान खान पर हमले की नाकाम साजिश.कीर्तन कर पहुंचे वोट डालने.सेना के जवानों ने डाला वोट.

पंजाब में सड़क पर फेंके लावारिस मरीज, तड़प-तड़प कर हुई मौत, सरकारी अस्पताल के स्टाफ की शर्मनाक करतूत

UP News
UP News

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

पंजाब के मानसा से एक ऐसा मामला सामने आ रहा है, जहां एक जिंदा इंसान को कब्रिस्तान में ले जाकर फेंक दिया गया और यही नहीं एक दूसरे शख्स को सड़क के किनारे तड़पने के लिए छोड़ दिया गया और इस कारनामे को अंजाम दिया हैं मानसा के सिविल हॉस्पिटल स्टाफ ने। हालांकि उन दोनों लोगों में से एक की मौत हो गई।

Breaking News
Breaking News

इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली इस वारदात के बारे में जानकर लोग हैरान हैं। शहर के लोग गुस्से में हैं और उन्होंने सिविल अस्पताल के डॉक्टरों पर गंभीर इल्जाम लगाते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की है। दरअसल, मानसा के सरकारी अस्पताल में दो लावारिस मरीज भर्ती थे, उनका इलाज भी ठीक से नहीं किया जा रहा था। इसी दौरान अस्पताल के डॉक्टरों ने उन दोनों मरीजों से छुटकारा पाने के लिए शर्मनाक तरकीब निकाली।

उन्होंने अस्पताल की एंबुलेंस चालक से कहा कि, “वो उन दोनों मरीजों को कहीं सुनसान जगह पर फेंक आए। एंबुलेंस चालक ने ऐसा ही किया और दोनों मरीजों को एंबुलेंस में डालकर एक सुनसान जगह पर ले गया। एक मरीज को उसने सड़क के किनारे फेंक दिया जबकि, दूसरे मरीज को वो जीते जी एक क्रबिस्तान में कब्रों के पास फेंक आया।

Breaking News
Breaking News

लेकिन सड़के के पास फेंके गए एक मरीज की मौत हो गई और दूसरे मरीज को कब्रिस्तान के पास उठाकर, दोबारा मानसा अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल की इस करतूत को लेकर लोग गुस्से में आ गए और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। वहीँ, मामला उजागर होने के बाद अब CMO मानसा ने इस मामले में जांच कराने की बात कही है।

इस मामले में एंबुलेंस चालक काका सिंह ने बताया कि, अस्पताल के डॉ. आसू और मैडम गुरविंदर कौर ने उसे मरीजों को बाहर छोड़ने के लिए कहा था और डॉ. आसू ने उसे 400 रुपये भी दिए थे। साथ ही उसकी मदद के लिए एक व्यक्ति को उसके साथ भेजा था। अब सरकारी अस्पताल के डॉक्टर इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर रहे हैं, जबकि मानसा जिले के CMO ने इस घटना के लिए एक जांच कमेटी बनाने की बात कही है।

MORE NEWS>>>गाजा में 4 दिन का सीजफायर शुरू, आज 13 बंधकों के बदले 39 फिलिस्तीनी होंगे रिहा, अब तक 14 हजार लोगो की मौत

Leave a Comment