Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

प्लास्टिक सर्जरी की अफवाहों पर राजकुमार राव ने दिया जवाब.खुले हुए नलकूप/बोरवेल की सूचना देने वाले को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशिरोहित ने छह टीमों से ज्यादा छक्के उड़ाए, पोलार्ड को भी पीछे छोड़ापतंजलि को झटका : योग से कमाए पैसों पर देना होगा टैक्सपुलिस से पंगा लेना मत, नहीं तो यहीं चौराहे पर पटक-पटक कर मारूंगाआज पहले चरण का मतदान,कई दिग्गजों की साख दांव परजम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारी

क्रिकेट में फिक्सिंग का जिन्न नहीं ले रहा खत्म होने का नाम, इस साल 13 मुकाबले संदेह के दायरे में, महिला T20 वर्ल्ड कप में भी सामने आया मामला

Fixing In Cricket
Fixing In Cricket

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

क्रिकेट में मैच फिक्सिंग का जिन्न अभी भी खत्म नहीं हुआ है। एक ताजा रिपोर्ट से इस बात की पुष्टि हुई है। ‘स्पोर्टराडार इंटीग्रिटी सर्विसेज’ की ओर से प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में 13 क्रिकेट मैच ऐसे थे, जो संदेह के दायरे में आए थे। इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘सट्टेबाजी, भ्रष्टाचार और मैच फिक्सिंग’ था और कुल रिपोर्ट 28 पन्नों की थी।
Fixing In Cricket
Fixing In Cricket
रिपोर्ट में कहा गया था कि, साल 2022 में 92 देशों में खेल के 12 इवेंट में 13 मैच ऐसे थे जिन पर संदेह था। आपको बता दें कि, ‘स्पोर्टरडार इंटीग्रिटी सर्विसेज’ विशेषज्ञों की एक ऐसी अंतरराष्ट्रीय टीम है जो अनियमित सट्टेबाजी, मैच फिक्सिंग और खेलों में अन्य तरह के भ्रष्टाचार का विश्लेषण करती है। मैच में किसी तरह की हरकत का पता लगाने के लिए कंपनी यूनिवर्सल फ्रॉड डिटेक्शन सिस्टम (UFDS) एप्लिकेशन का यूज करती है।
क्रिकेट के 13 मैच पर संदेह होना ‘स्पोर्टरडार इंटीग्रिटी सर्विसेज’ द्वारा दर्ज किए गए उच्चतम वार्षिक आंकड़े हैं। रिपोर्ट में दर्शाए गए ग्राफिक्स के अनुसार भारत में खेले गए किसी भी क्रिकेट मैच में फिक्सिंग नहीं हुआ। स्पोर्टरडार ने IPL मैचों के दौरान सट्टेबाजी की अनियमितताओं का पता लगाने के लिए 2020 में BCCI की भ्रष्टाचार-रोधी इकाई के साथ साझेदारी की थी। रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ ऐसे खेल भी रहे जिसमें फिक्सिंग के मामले ना के बराबर आए हैं।
महिला T-20 वर्ल्ड कप में सामने आया था मामला –
क्रिकेट में अक्सर फिक्सिंग संबधित मामले सामने आते रहते हैं। पिछले महीने हुए वूमेन्स T-20 वर्ल्ड कप में फिक्सिंग का शक गहराया था। तब ढाका के न्यूज आउटलेट जमुना टीवी ने एक ऑडियो टेप जारी की थी जिसमे बांग्लादेश की दो वूमेन्स क्रिकेटर बातचीत कर रही थी। इनमें से एक खिलाड़ी का नाम लता मंडल बताया गया था जो बांग्लादेशी टीम के साथ साउथ अफ्रीका गई थीं। वहीं दूसरी क्रिकेटर शोहेली अख्तर थीं जिनका T-20 वर्ल्ड कप के लिए चयन नहीं हुआ था। BCB ने इसकी सूचना ICC को भी दी थी।
IPL 2013 में हुई कथित स्पॉट फिक्सिंग से सबक लेते हुए BCCI ने कई कदम उठाए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक IPL 2023 को लेकर BCCI ने खिलाड़ियों को किसी अंजान शख्स से बातचीत ना करने और उनसे दूर रहने की सलाह दी है। IPL लीग के 16वें सीजन की शुरुआत 31 मार्च से हो रही है, जिसमे पहला मुक़ाबला डिफेंडिंग चैम्पियन गुजरात टाइटन्स (GT) को महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ खेलान हैं।

Leave a Comment