Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

प्लास्टिक सर्जरी की अफवाहों पर राजकुमार राव ने दिया जवाब.खुले हुए नलकूप/बोरवेल की सूचना देने वाले को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशिरोहित ने छह टीमों से ज्यादा छक्के उड़ाए, पोलार्ड को भी पीछे छोड़ापतंजलि को झटका : योग से कमाए पैसों पर देना होगा टैक्सपुलिस से पंगा लेना मत, नहीं तो यहीं चौराहे पर पटक-पटक कर मारूंगाआज पहले चरण का मतदान,कई दिग्गजों की साख दांव परजम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारी

उप्र में ढाई साल की मासूम की पानी में डूबकर दर्दनाक मौत, प्यास लगने पर 20 लीटर की बाल्टी से निकाल रही थी पानी, सिर के बल गिरने से हुआ हादसा

Tripti (age 2½)
Tripti (age 2½)

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

उप्र के अलीगढ़ जिले के विजयगढ़ में ढाई साल की मासूम की पानी में डूबकर दर्दनाक मौत हो गई है। प्यास लगने पर बच्ची 20 लीटर की बाल्टी से पानी निकाल रही थी, उसी दौरान बाल्टी मे सिर के बल गिरने से तड़प तड़क कर उसकी मौके पर ही मौत हो गई। थोड़ी देर बाद जब माँ ने बच्ची को देखा तो चीख पुकार मच गई। सभी बच्ची को लेकर अस्पताल दौड़े। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
विजयगढ़ कस्बा के महाजनान निवासी सुरेश चंद्र यादव कचौड़ी और छोले-भटूरे की दुकान लगाते हैं। रविवार की शाम को उनकी पत्नी सरोज यादव घर पर अकेली थी और उनकी दो बेटियां खेल रही थी। जबकि बड़ी बेटी पिता के पास दुकान गई हुई थी। बच्चियों को कुरकुरे देकर सरोज गोबर के उपले पाथने चली गई थी।
चार वर्षीय चेतना और ढाई साल की मासूम तृप्ति आंगन में बैठकर कुरकुरे खा रही थी। कुरकुरे खाने के बाद मासूम तृप्ति को प्यास लगी तो वह माँ को बुलाने के बजाय खुद ही पानी लेने बाल्टी के पास चली गई। 20 लीटर की बाल्टी से वह खुद ही पानी निकालने लगी और सिर के बल बाल्टी में गिर गई। पानी में गिरने के कारण बच्ची का दम घुट गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
परिवार के लोगों ने जैसे तैसे करके बच्ची का अंतिम संस्कार किया है, लेकिन परिवार में अभी भी सन्नाटा छाया हुआ है। वहीं घर में इलाके के लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है। लोग दुखी परिवार को सांत्वना देकर जा रहे हैं। लेकिन बच्ची की माँ का रो-रो कर बुरा हाल है और वह बच्ची के साथ हुए हादसे को भुला नहीं पा रही है।

Leave a Comment