Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारीजब नारद मुनि ने पूछा भगवान विष्णु से एकादशी का महत्व, आखिर कैसे मिला ब्राह्मण की पत्नी को बैकुंठ का ऐश्वर्याषटतिला एकादशी आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, व्रत के नियम और उपायइंदौर में नाबालिगों का खुनी खेल, 6 हमलावरो ने किया दो दोस्तों पर चाकू से हमला, आरोपी मौके से फरारशिवपुरी में 8 साल की बच्ची को ट्रक ने कुचला, पुलिस ने ट्रक जब्त किया, ड्राइवर फरार10वीं बोर्ड एग्जाम के पहले ही पेपर वायरल, टेलीग्राम चैनल पर 350 में दिया जा रहा प्रश्न पत्र, कई लोगों पर कार्यवाहीचिली के जंगलों में आग VIDEO, 112 लोगों की मौत सैकड़ों लापता, राष्ट्रपति ने आपातकाल घोषित किया

किंग चार्ल्स III की ताजपोशी आज, 70 साल बाद इंग्लैंड को मिलेगा किंग, समारोह में होगा 1 हजार करोड़ रुपए का खर्च

BREAKING NEWS
BREAKING NEWS

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

पिछले साल 8 सितंबर को क्वीन एलिजाबेथ का 96 साल की उम्र में निधन होने के बाद उनके बेटे चार्ल्स को ब्रिटेन का महाराज घोषित किया गया था। लेकिन तब उनकी ताजपोशी नहीं हुई थी। एलिजाबेथ को भी उनके पिता किंग एल्बर्ट की मौत के बाद महारानी घोषित कर 16 महीने बाद जून 1953 में ताज पहनाया गया था।
King Charles III
King Charles III
ब्रिटिश शाही परिवार में 70 साल बाद इस समारोह का भव्य आयोजन हो रहा है। ब्रिटेन के किंग चार्ल्स III और क्वीन कैमिला की शनिवार को वेस्टमिंस्टर ऐबे चर्च में दोपहर 3:30 बजे (भारतीय समय के मुताबिक) ताजपोशी होगी। इससे पहले जब 1953 में क्वीन एलिजाबेथ की ताजपोशी हुई थी। तब चार्ल्स की उम्र 4 साल थी। अब किंग चार्ल्स 74 साल के हो चुके हैं।
राज्याभिषेक के इस आयोजन के लिए सहपरिवार ने 6 मई की तारीख घोषित की थी जो चर्चा का एक मुख्य विषय है। सवाल यह है कि, आखिर इस भव्य आयोजन के लिए यही तारीख क्यों चुनी गई। तो आपको बताते चले कि, इसका कनेक्शन भी शाही परिवार से ही है। इसके दो बड़े कारण साफतौर पर समझ आते हैं।
King Charles III
King Charles III
पहली वजह – 6 मई को चार्ल्स के पोते आर्ची हरीसन का जन्मदिन होता है। आर्ची प्रिंस हैरी और मेगान मार्केल के बेटे हैं और उनका जन्म 6 मई 2019 को हुआ था। ताजपोशी की तारीख के पीछे यह भी एक कनेक्शन सामने आ रहा है।
दूसरी वजह – वहीँ इस तारीख का कनेक्शन सिर्फ आर्ची हरीसन तक ही सीमित नहीं है। इसकी दूसरी वजह है, किंग एडवर्ड VII का निधन भी 6 मई, 1910 को बकिंघम पैलेस में हुआ था। किंग एडवर्ड VII 1901 से 1910 तक ब्रिटेन के राजा रहे और उनके शासनकाल को एडवर्डियन युग भी कहा जाता है। यही वजह रही है कि, राज्याभिषेक के लिए चुनी गई तारीख शाही परिवार के लिए बेहद खास है।
King Charles III
King Charles III
चार्ल्स की ताजपोशी समारोह में भारतीय मूल के ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक और उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति फ्लैग बियरर्स के काफिले को लीड करेंगे। वहीं, खराब मौसम की चेतावनी के बावजूद जिस रास्ते से किंग से काफिला जाएगा, वहां भीड़ जुट गई है। ताजपोशी के दौरान किंग चार्ल्स को 700 साल पुरानी सेंट एडवर्ड कुर्सी पर बैठाया जाएगा और उनके अभिषेक के लिए 12वीं सदी के सोने के चम्मच और पवित्र तेल का इस्तेमाल होगा। ताजपोशी के लिए किंग चार्ल्स का काफिला सुबह 10:20 बजे (ब्रिटेन के समय के मुताबिक) बकिंघम पैलेस से निकलेगा जो 11 बजे वेस्टमिंस्टर ऐबे पहुंचेगा।
5 स्टेप्स में होगी ताजपोशी –
पहला स्टेप  : किंग के तौर पर पहचान।
दूसरा स्टेप  : शपथ ग्रहण
तीसरा स्टेप : राज्य अभिषेक
चौथा स्टेप   : ताजपोशी होगी
पांचवां स्टेप : राजगद्दी पर बैठेंगे चार्ल्स
MORE NEWS>>>2671 से आया टाइम ट्रैवलर, Eno Alaric की खौफनाक भविष्यवाणी – पृथ्वी पर जल्द आने वाली हैं तबाही, हजारों लोगो की जाएंगी जान
ताजपोशी पर 1 हजार करोड़ रुपए खर्च – 
आपको बता दें कि, चार्ल्स की ताजपोशी में करीब £100 मिलियन पाउंड यानी की 1 हजार करोड़ रुपए का खर्च आया है और खास बात यह है कि, ये पैसा ब्रिटेन के टैक्सपेयर्स की ही जेब से लिया गया है। इसमें रॉयल खजाने का इस्तेमाल नहीं हुआ है। इसे देखते हुए ब्रिटेन में कई लोग इस ताजपोशी समारोह का विरोध कर रहे हैं। द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, किंग चार्ल्स के पास सैंड्रिंघम में 75 मिलियन पाउंड यानी करीब 771 करोड़ रुपए की संपत्ति है।

Leave a Comment