Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारीजब नारद मुनि ने पूछा भगवान विष्णु से एकादशी का महत्व, आखिर कैसे मिला ब्राह्मण की पत्नी को बैकुंठ का ऐश्वर्याषटतिला एकादशी आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, व्रत के नियम और उपायइंदौर में नाबालिगों का खुनी खेल, 6 हमलावरो ने किया दो दोस्तों पर चाकू से हमला, आरोपी मौके से फरारशिवपुरी में 8 साल की बच्ची को ट्रक ने कुचला, पुलिस ने ट्रक जब्त किया, ड्राइवर फरार10वीं बोर्ड एग्जाम के पहले ही पेपर वायरल, टेलीग्राम चैनल पर 350 में दिया जा रहा प्रश्न पत्र, कई लोगों पर कार्यवाहीचिली के जंगलों में आग VIDEO, 112 लोगों की मौत सैकड़ों लापता, राष्ट्रपति ने आपातकाल घोषित किया

लाखों में हैं इस एक चाकू की कीमत, स्टील की 360 परतों से होता है तैयार, जानिए आखिर इतना महंगा क्यों हैं?

Damascus Knife
Damascus Knife

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

किसी भी चीज की कीमत उसकी खूबियों पर निर्भर करती है और ऐसा ही कुछ इस चाकू के साथ भी है। जो हज़ारो नहीं लाखों रुपये में बिकता है। ये दमिश्क चाकू (Damascus Knife) हैं, जो जर्मनी में मिलते हैं और इन्हें बनाने के पीछे एक खास परंपरा छिपी हुई है, जो लोगों को काफी आकर्षित करती है।
Damascus Knife
Damascus Knife
सदियों पुरानी ये कला आज भी जीवित है। वहीं इसे बनाए जाने का तरीका भी बेहद हटकर है। चाकू जितनी अधिक गुणवत्ता का होगा, उसकी कीमत उतनी ही अधिक होगी, इसलिए इस खास चाकू की कीमत 5000 डॉलर (करीब 4 लाख रुपये) से भी अधिक तक पहुंचती है।
Damascus Knife
Damascus Knife
इसे जर्मनी में दुनिया के सबसे पुराने पेशों में से एक माना जाता है और इस चाकू को बनाने वालों का कहना है कि, “ये कई पीढ़ियों तक चल सकता है, बशर्ते इसे बनाते वक्त कई चीजों का ख्याल रखना पड़ता है।” वैसे तो इसे बनाने में दो से तीन दिन का वक्त ही लगता है, लेकिन इसके लिए अलग-अलग गुणों वाली कई कील की परतों को एक साथ रखा जाता है।
Damascus Knife
Damascus Knife
इसके बाद इन्हें 1200 डिग्री सेल्सियस तापमान पर आकार दिया जाता है और हर मोड़ के साथ ये परत दोगुनी होती जाती हैं, जिससे स्टील और बेहतर होती है। ऐसा कहा जाता है कि, चाकू की गुणवत्ता 360 परतों के तौर पर होती है, यानी मानक के तौर पर दमिश्क स्टील की 360 परतें होती हैं।
Damascus Knife
Damascus Knife
हजारों साल पुरानी तकनीक –
दमिश्क चाकू बनाए जाने की तकनीक हजारों साल पुरानी है और इनका इस्तेमाल मध्यकाल में भी होता था। वहीं चाकू का नाम सीरिया के शहर दमिश्क पर रखा गया है। ये 14वीं सदी में हथियारों और चाकुयों के कारोबार का एक अहम केंद्र हुआ करता था। चाकू को आकार दिए जाने के बाद इसे तेल में नहलाकर मजबूत किया जाता है और फिर इसे फाइनल आकार देकर धार दी जाती है।
Damascus Knife
Damascus Knife
जब चाकू पूरी तरह से तैयार हो जाता है, तो उसे तेजाब में डुबो दिया जाता है और अलग-अलग स्टील इस पर काफी अलग असर डालती हैं। इससे चाकू पर खास दमिश्क पैटर्न उभरकर आता है और ये लचीले और टिकाऊ बने रहते हैं। साथ ही दिखने में भी बेहद खूबसूरत होते हैं। इसी वजह से ये कई साल तक चल सकते हैं।
Damascus Knife
Damascus Knife
बात करे इनके हैंडल की तो, कई कलाकार इसके हैंडलो को लकड़ी, हड्डी या हाथी के दांतों से बनाते हैं। हालाँकि इसके लिए हाथियों का शिकार नहीं होता बल्कि प्राचीन हाथियों के पहले से उपलब्ध दातों का इस्तेमाल किया जाता हैं। जिनका दुनिया में पिघलती बर्फ के बाद खनन करके इंतजाम किया जाता है।
Damascus Knife
Damascus Knife
MORE NEWS>>>शाहपुरा में रोडवेज बस की रफ्तार का कहर, बाइक सवार पति-पत्नी और बेटे को कुचला, तीनों की मौके पर हुई मौत, ड्राइवर और कंडक्टर फरार

Leave a Comment