Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

Golden Temple में लगे खालिस्तानी नारे.इंदौर में नोटा के नंबर 1 आने पर कांग्रेस ने केक काटकर मनाया जश्न .सलमान खान पर हमले की नाकाम साजिश.कीर्तन कर पहुंचे वोट डालने.सेना के जवानों ने डाला वोट.दिल्ली में पानी की भारी किल्लत के चलते लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में 45 घंटे की ध्यान साधना शुरू की है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी के अंदर औरंगजेब की आत्मा घुस चुकी है।‘ऑल आइज़ ऑन रफ़ा’: सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग का असली कारण!हार्दिक पांड्या और नताशा के तलाक की खबरें तेजी से आ रही हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक नताशा को पांड्या की 70 प्रतिशत प्रॉपर्टी मिलेगी.

NIA और ATS की प्रदेश में बड़ी रेड, भोपाल और छिंदवाड़ा से पकड़ाए 11 संदिग्ध, आतंकी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर के सदस्य

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA), मध्य प्रदेश ATS और तेलंगाना ATS की टीम ने भोपाल और छिंदवाड़ा में मंगलवार सुबह दबिश देकर 11 संदिग्ध को हिरासत में लिया है। वहीँ, भोपाल के ऐशबाग इलाके से 4 युवकों को पकड़ा है और इनके पास से संदिग्ध दस्तावेज और देश विरोधी सामग्री भी जब्त की गयी है।
सूत्रों के मुताबिक, पकड़े गए संदिग्ध युवकों के आतंकी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर (HUT) से जुड़े होने के सबूत NIA और ATS को मिले हैं। बताया जा रहा है कि, कट्टरपंथी इस्लामी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर (HUT) के 16 सदस्यों को हिरासत में लिया गया है। इनमें भोपाल और छिंदवाड़ा के 11 और तेलंगाना के 5 संदिग्ध शामिल हैं। सूत्रों की मानें तो हिरासत में लिए गए लोगों में भोपाल गैस त्रासदी एक्टिविस्ट का एक बेटा भी शामिल है।
छिंदवाड़ा SP विनायक वर्मा ने बताया कि, ATS की टीम ने कोतवाली इलाके में कार्रवाई की और हिरासत में लिए गए लोगों के पास से संदिग्ध दस्तावेज और देश विरोधी सामग्री भी बरामद की है। हालांकि, इस बारे में आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। भोपाल के ऐशबाग पुलिस थाना प्रभारी चतुर्भुज राठौर ने बताया कि, हमें इस मामले में कोई जानकारी नहीं है। अभी कुछ देर पहले तीन लोगों के परिवार थाने आए और बताया कि, कुछ लोग खुद को पुलिसवाला बताकर घर में घुसे और लड़कों को पकड़कर ले गए।
ISIS से भी ज्यादा खतरनाक – 
कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन हिज्ब-उत-तहरीर सबकी नजरों से बचते हुए अपनी कट्टरपंथी विचारधारा को तेजी से फैला रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये संगठन ISIS से भी ज्यादा खतरनाक है और इसने लगभग 50 देशों में अपनी विचारधारा को फैलाया हुआ है। संगठन 1952 में यरूशलेम में बना था और लंदन में इसका मुख्यालय है। इस संगठन की मध्य एशिया, यूरोप, दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया में ब्रांच हैं और विशेष रूप से इंडोनेशिया में हैं, दक्षिण एशिया में पाकिस्तान और बांग्लादेश में इसकी उपस्थिति महत्वपूर्ण है।
MORE NEWS>>>जगदलपुर में भीषण हादसा, टायर फटने से स्कॉर्पियो पलटी, हादसे में 3 महिलाओं की मौत 4 घायल

Leave a Comment