Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

Golden Temple में लगे खालिस्तानी नारे.इंदौर में नोटा के नंबर 1 आने पर कांग्रेस ने केक काटकर मनाया जश्न .सलमान खान पर हमले की नाकाम साजिश.कीर्तन कर पहुंचे वोट डालने.सेना के जवानों ने डाला वोट.दिल्ली में पानी की भारी किल्लत के चलते लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में 45 घंटे की ध्यान साधना शुरू की है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी के अंदर औरंगजेब की आत्मा घुस चुकी है।‘ऑल आइज़ ऑन रफ़ा’: सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग का असली कारण!हार्दिक पांड्या और नताशा के तलाक की खबरें तेजी से आ रही हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक नताशा को पांड्या की 70 प्रतिशत प्रॉपर्टी मिलेगी.

इंदौर में डेढ़ साल के बच्चे की झुलसने से मौत, पिता ने नहाने के लिए रखा था गर्म पानी उसी से झुलस गया, उपचार के दौरान तौड़ दम

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

शहर के बिचौली मर्दाना में रहने वाले आयुष भूरिया की रविवार देर रात मौत हो गई। इंदौर के एमवाय अस्पताल के बर्न यूनिट में आयुष का बीते पांच दिनों से उपचार चल रहा था। जहां रविवार रात को उसने दम तोड दिया। पुलिस पुछताछ के दौरान मृतक के पिता जसवंत भूरिया कोल्ड स्टोरेज में काम करते हैं। जिसके कारण रोज गर्म पानी से नहाना पड़ता हैं। इसी कारण उन्होने चूल्हे पर पानी गर्म करने रखा था और बाथरूम चले गये।
Ayush Bhuria
Ayush Bhuria
इसी बिच उनका बच्चा आयुष चूल्हे के पास आया और पानी में हाथ डालकर खेलने लगा, गर्म पानी का पूरा बर्तन बच्चे पर गिर गया। जिससे उसके रोने की आवाज आई तो मृतक के पिता बाथरूम से बाहर निकले और माँ सुनिता बाहर से दौड़ती हूई आई। तब तक बच्चा पूरी तरह झुलस चूका था और इस दर्दनाक घटना के बाद माता-पिता उसे शहर के एमवाय अस्पताल में इलाज के लिए ले गये। जहाँ तकरीबन 5 दिन तक बच्चे का इलाज चला और इस दौरान उसकी मौत हो गई।
कनाड़िया पुलिस की पुछताछ के दौरान मृतक के माता-पिता दोनों ही कोल्ड स्टोरेज में मजदूरी करते हैं। जिसके कारण रोज उन्हें गर्म पानी से नहाना पड़ता है। जिसके लिए वे चूल्हे पर पानी गर्म करते हैं। आयुष की उम्र महज डेढ़ साल ही थी।
MORE NEWS>>>इंदौर में 7 साल के मासूम की बेहरहमी से हत्या, दूसरी पत्नी के कहने में बेटे का गला घोंटा, आरोपी फरार
इसके अलावा आयुष के तीन बड़े भाई-बहन और हैं, जो घटना के वक्त बाहर खेत में खेल रहे थे और माँ सुनिता उस वक्त बाहर काम कर रही थी। उसी दौरान बच्चे आयुष की जोर से रोने की आवाज आई। तभी वह दौड़कर अंदर गई। लेकिन तब तक आयुष बुरी तरह से झुलक चुका था। जिसके बाद परिजनों ने उसे एमवाय अस्पताल के बर्न यूनिट में भर्ती करवाया।

Leave a Comment