Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारीजब नारद मुनि ने पूछा भगवान विष्णु से एकादशी का महत्व, आखिर कैसे मिला ब्राह्मण की पत्नी को बैकुंठ का ऐश्वर्याषटतिला एकादशी आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, व्रत के नियम और उपायइंदौर में नाबालिगों का खुनी खेल, 6 हमलावरो ने किया दो दोस्तों पर चाकू से हमला, आरोपी मौके से फरारशिवपुरी में 8 साल की बच्ची को ट्रक ने कुचला, पुलिस ने ट्रक जब्त किया, ड्राइवर फरार10वीं बोर्ड एग्जाम के पहले ही पेपर वायरल, टेलीग्राम चैनल पर 350 में दिया जा रहा प्रश्न पत्र, कई लोगों पर कार्यवाहीचिली के जंगलों में आग VIDEO, 112 लोगों की मौत सैकड़ों लापता, राष्ट्रपति ने आपातकाल घोषित किया

बच्चों की ज़िद पर जनसुनवाई छोड़ आये कलेक्टर, छात्रों ने कलेक्टर ऑफिस पर की नारेबाजी, 3 छात्रों की तबीयत बिगड़ी

Indore News
Indore News

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

इंदौर के मोरोद स्थित शासकीय ज्ञानोदय आवासीय स्कूल के बच्चे मंगलवार को अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सड़क पर उतर आए और स्कूल से रैली के रूप में निकलकर करीब 20 किलोमीटर दूर कलेक्टर ऑफिस तक पैदल पहुंचे। इस दौरान 3 छात्रों की तबीयत भी बिगड़ गई। इसमें से एक छात्र लक्की जाधव को गंभीर हालात में अस्पताल पहुंचाया गया है।

छात्र कलेक्टर से मिलने के लिए अड़े रहे। आक्रोशित छात्रों को देख ADM सहित तमाम अफसर समझाने पहुंचे। लेकिन वे नहीं माने तो करीब 12:45 बजे कलेक्टर इलैयाराजा टी को अपनी जनसुनवाई छोड़ बाहर आना पड़ा। इसके बाद उन्होंने छात्रों से बात की और उनकी उचित मांगो को पूरा किया। बता दें कि, सोमवार को स्कूल की तीसरी मंजिल से गिरकर विपिन नामक एक छात्र गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसके बाद उसके साथी छात्र रैली निकाल कर स्कूल प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया है। इसके साथ ही उन्होंने प्रबंधन पर भी कई आरोप लगाए हैं।

इस दौरान सभी छात्र कलेक्टर ऑफिस पहुंचे और ‘कलेक्टर साहब बाहर आओ, घायल विपिन की जान बचाओ’ के नारे लगाकर प्रदर्शन करने लगे। प्रशासन ने जब बच्चों को पीने का पानी देने की कोशिश की तो बच्चों ने पानी पीने से भी इनकार कर दिया और पानी की बोतलें वापस लौटा दी। स्टूडेंट्स का कहना है कि, जब तक कलेक्टर खुद बाहर आकर उनसे बात नहीं करेंगे, तब तक ना तो वो यहां से जाएंगे और ना ही कुछ खाएंगे।

ADM से नहीं की बात, बस भी वापस लौटाई –

बच्चों के आंदोलन और रैली की सूचना मिलते ही अपर कलेक्टर राजेश राठौर बच्चों से मिलने पहुंचे थे। तब तक बच्चे IT पार्क चौराहे तक पहुंच गए थे। यहां ADM ने बच्चों को समझाने की कोशिश की लेकिन बच्चे नहीं माने और कलेक्टर कार्यालय की और आगे बढ़ गए। ADM राजेश राठौर के बाद ADM आरएस मंडलोई भी बात करने आए, लेकिन छात्रों ने उनकी बात मानने से इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि, हम सिर्फ कलेक्टर से ही बात करेंगे। इससे पहले रैली की सूचना पर कलेक्टर ने 2 बस बच्चों को लेने भिजवाई थी, लेकिन छात्र उसमें नहीं बैठे और पैदल ही कार्यालय तक आए। अपर कलेक्टर ने छात्रों क आश्वासन दिया कि, “घायल छात्र विपिन का इलाज सरकार करेगी और दोषियों पर भी कार्रवाई होगी।”

MORE NEWS>>>रेवाड़ी में 2 युवतियों से गैंगरेप, नौकरी का झांसा देकर होटल में किया दुष्कर्म, महिला समेत 3 पर केस दर्ज

Leave a Comment