Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारीजब नारद मुनि ने पूछा भगवान विष्णु से एकादशी का महत्व, आखिर कैसे मिला ब्राह्मण की पत्नी को बैकुंठ का ऐश्वर्याषटतिला एकादशी आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, व्रत के नियम और उपायइंदौर में नाबालिगों का खुनी खेल, 6 हमलावरो ने किया दो दोस्तों पर चाकू से हमला, आरोपी मौके से फरारशिवपुरी में 8 साल की बच्ची को ट्रक ने कुचला, पुलिस ने ट्रक जब्त किया, ड्राइवर फरार10वीं बोर्ड एग्जाम के पहले ही पेपर वायरल, टेलीग्राम चैनल पर 350 में दिया जा रहा प्रश्न पत्र, कई लोगों पर कार्यवाहीचिली के जंगलों में आग VIDEO, 112 लोगों की मौत सैकड़ों लापता, राष्ट्रपति ने आपातकाल घोषित किया

गृहमंत्री के इंदौर दौरे में हुआ बदलाव, रैली से पहले जानापाव दर्शन करेंगे, लिमिटेड रहेगा स्वागत-सत्कार

MP Politics News
MP Politics News

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 के लिए भाजपा ने चुनावी बल्लेबाजी के लिए पहली पिच इंदौर सहित मालवा-निमाड़ को चुना है। 30 जुलाई को गृहमंत्री अमित शाह प्रदेश की पहली चुनावी सभा लेने के लिए इंदौर की विधानसभा क्रमांक 2 में कनकेश्वरी गरबा मैदान में बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

MP Politics News
Amit Shah

शाह उसी दिन सभा से पहले भगवान परशुराजी की जन्मस्थली जानापाव भी जाएंगे। मानपुर के पास पहाड़ी पर स्थित जानापाव ब्राह्मणों का तीर्थस्थल है। इससे साफ है कि, इस बार पार्टी की नजर ब्राह्मण वोटर्स पर हैं। पिछली बार भाजपा को एक बयान के बाद ब्राह्मणों की नाराजगी झेलना पड़ी थी। प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि, 30 जुलाई को पहले गृह मंत्री शाह जानापाव दर्शन करेंगे। इसके बाद ही इंदौर पहुंचकर कनकेश्वरी मैदान में सभा लेंगे और रात में इंदौर संभाग के पदाधिकारियों की मीटिंग अलग से करेंगे।

सूत्रों के अनुसार, भाजपा ने अमित शाह के स्वागत, सत्कार को लिमिटेड रखने का फैसला किया है। ऐसे में शाह का सामान्य और औपचारिक रूप से ही स्वागत होगा। इसके पीछे बताया गया है कि, “शाह खुद ही नहीं चाहते कि स्वागत सत्कार में ज्यादा तामझाम रहे।” वहीं, भाजपा पदाधिकारियों का कहना है कि, “आलाकमान ने इस कार्यक्रम के लिए 1 लाख से ज्यादा लोगों को एकत्रित करने का टारगेट तय किया है।”

MORE NEWS>>>जींद में पूर्व MLA की बेटी की जलने से दर्दनाक मौत, सिलेंडर फटने से हुआ हादसा, दो बच्चों के सर से उठा माँ का साया

Leave a Comment