Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

प्लास्टिक सर्जरी की अफवाहों पर राजकुमार राव ने दिया जवाब.खुले हुए नलकूप/बोरवेल की सूचना देने वाले को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशिरोहित ने छह टीमों से ज्यादा छक्के उड़ाए, पोलार्ड को भी पीछे छोड़ापतंजलि को झटका : योग से कमाए पैसों पर देना होगा टैक्सपुलिस से पंगा लेना मत, नहीं तो यहीं चौराहे पर पटक-पटक कर मारूंगाआज पहले चरण का मतदान,कई दिग्गजों की साख दांव परजम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारी

काशी में सर्व सेवा संघ के 80 मकानों पर चला बुलडोजर, 3 घंटे में गिराईं 12 बिल्डिंग, विरोध करने वाले 10 कार्यकर्ता हिरासत में

UP News 
UP News 

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

उप्र के वाराणसी जिले के सर्व सेवा संघ परिसर में शनिवार सुबह 6 बुलडोजर परिसर के अंदर घुसे और करीब 12 बिल्डिंग को गिरा दिया गया। इस कार्यवाही के दौरान संघ कार्यकर्ताओं ने विरोध किया, तो पुलिस ने 10 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है।

शनिवार सुबह करीब 8 बजे सर्व सेवा संघ पर पुलिस पहुंच गई और पूरे एरिया को घेर लिया गया। करीब 9 बजे यहां पुलिस, प्रशासन और रेलवे के अधिकारी भी पहुंच गए और करीब 10 बजे बुलडोजर ने ध्वस्तीकरण शुरू किया। 13 एकड़ में फैले इस परिसर में करीब 80 बिल्डिंग बनी हुई हैं। इनमें रहने के लिए मकान, ऑफिस और क्वाटर बने हैं। जिन्ह अब एक-एक करके गिराया जा रहा है।

UP News 
UP News

सर्व सेवा संघ और कई दलों के लोग राजघाट स्थित परिसर के पास पहुंचे, जिनमे महिलाएं भी शामिल थी। सभी महिलाये रोती हुई दिखीं और पदाधिकारियों ने भी इमोशनल अपील करते हुए कहा कि, देशभर के लोग एक अंतिम प्रयास करें, गांधी-विनोबा भावे की विरासत बचाने के लिए यहां पर पहुंचे। लेकिन किसी को अंदर नहीं जाने दिया गया।

बता दें कि, इस बिल्डिंग को बचाने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत कई नेताओं ने आवाज उठाई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका खारिज होने के बाद प्रशासन आज इन बिल्डिंग्स को ढहा रहा है। वहीं, विरोध कर रहे कार्यकर्ता नंदलाल मास्टर, जागृति राही, डॉ. अनूप श्रमिक, तारकेश्वर, अनूप आचार्य, अरविंद कुशवाहा, ध्रुव, अवनीश, फ़ा आनंद और रामधीरज को हिरासत में लिया गया है।(UP News)

MORE NEWS>>>अहमदाबाद में भीषण सड़क हादसा, हाईवे पर खड़े ट्रक के पीछे जा घुसा टेंपो, हादसे में 10 लोगो की दर्दनाक मौत

Leave a Comment