Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर में एवलांच का रेड अलर्ट, कई इलाको में बर्फबारी से माइनस 10 डिग्री पहुंचा तापमान, UP-बिहार में बारिश ने ठंड बढ़ाईकेजरीवाल के PS के घर ED की रेड, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में AAP के 10 ठिकानों पर पहुंची टीमब्लू साड़ी में श्वेता लगीं काफी स्टनिंग, एक्ट्रेस के कातिलाना अवतार पर 1 लाख से भी ज्यादा यूजर्स ने किया लाइकभारत में 718 Snow Leopard, अकेले लद्दाख में रहते हैं 477 हिम तेंदुए, WII की नई रिपोर्ट जारीजब नारद मुनि ने पूछा भगवान विष्णु से एकादशी का महत्व, आखिर कैसे मिला ब्राह्मण की पत्नी को बैकुंठ का ऐश्वर्याषटतिला एकादशी आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, व्रत के नियम और उपायइंदौर में नाबालिगों का खुनी खेल, 6 हमलावरो ने किया दो दोस्तों पर चाकू से हमला, आरोपी मौके से फरारशिवपुरी में 8 साल की बच्ची को ट्रक ने कुचला, पुलिस ने ट्रक जब्त किया, ड्राइवर फरार10वीं बोर्ड एग्जाम के पहले ही पेपर वायरल, टेलीग्राम चैनल पर 350 में दिया जा रहा प्रश्न पत्र, कई लोगों पर कार्यवाहीचिली के जंगलों में आग VIDEO, 112 लोगों की मौत सैकड़ों लापता, राष्ट्रपति ने आपातकाल घोषित किया

वाराणसी के IVF सेंटर में चल रहा था काला धंधा, पुलिस ने दबिश देकर किया गिरोह का पर्दाफाश, पति-पत्नी समेत 4 गिरफ्तार

Varanasi News
Varanasi News

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

उप्र के वाराणसी में पुलिस ने एक IVF सेंटर में जरूरतमंद और गरीब लड़कियों को लालच देकर एग डोनेशन (Egg Donation) कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। इस कार्यवाही के दौरान पुलिस ने पति-पत्नी समेत गिरोह के चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी मोटी कीमत लेकर निःसंतान दंपतियों को लड़कियों का एग बेचने का काम कर रहे थे।

Varanasi News
Varanasi News

मामला जैतपुरा थाना इलाके का है। जहाँ ये गिरोह जरूरतमंद गरीब लड़कियों को अपने झांसे में लेता था और रुपयों का लालच देकर उनके फर्जी दस्तावेज तैयार कराता था, फिर गैरकानूनी तरीके से एग डोनेशन कराता और उसे निःसंतान दंपतियों को बेच देता था।

इसके लिए वो दंपति से मोटी रकम वसूलते थे, ये काम पूरी प्रक्रिया के तहत होता था ताकि किसी को इस बारे में शक न हो। इस काले धंधे में IVF सेंटर के कुछ कर्मचारियों व डाक्टरों की संलिप्तता भी सामने आई है।

महिला थाने की पुलिस और उनकी टीम ने दबिश देकर इस गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो जरूरतमंद नाबालिग और बालिग लड़कियों को अपने झांसे में लेकर उनके ओवम यानि एग को अवैध रूप से IVF सेंटर के जरिए निकालकर निःसंतान दंपति को ऊंचे दामों में बेच दिया करते थे। पुलिस ने इस गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जिसमें दो महिला और दो पुरूष शामिल हैं।

ऐसे हुआ खुलासा –

दरअसल, महिला थाने में जैतपुरा इलाके की एक पीड़िता की माँ ने अवैध एग डोनेशन की शिकायत दर्ज करवाई थी। उस पीड़ित लड़की की उम्र महज 17 साल है। शिकायत के बाद पुलिस एक्टिव हुई और धरपकड़ के लिए पूरा जाल बनाया. जल्द ही पूरे गिरोह का भंडाफोड़ हो गया।

गिरफ्तार सीमा देवी और उसका ऑटो चालक पति आशीष कुमार जैतपुरा इलाके में ही रहते हैं। उन्होंने 17 साल की लड़की को अपना शिकार बनाया था, दोनों ने उसे बहला-फुसलाकर पैसों का लालच दिया और उसके एग डोनेट करवा दिए। इसके अलावा भेलूपुर क्षेत्र के खोजवा इलाके की अनीता देवी भी गरीब लड़कियों को झांसा देकर IVF सेंटर पर एग डोनेट कराया करती थी।

MORE NEWS>>>5 राउंड गोली चली 1 मिनट बाद पत्नी चीखी, लखनऊ इंस्पेक्टर मर्डर केस में पुलिस को मिले अहम सुराग, किसी करीबी पर शक

वहीं, सोनभद्र के अनपरा का अनमोल जायसवाल लड़कियों का फर्जी दस्तावेज तैयार कराता था। फिलहाल, अनीता और अनमोल दोनों ही पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं। काशी जोन के DCP आरएस गौतम ने बताया कि मामले में FIR दर्ज हो गई है, पूछताछ जारी है। जानकारी का सत्यापन होगा, लड़कियों की उम्र आदि पता करवाई जा रही है, सभी अभिलेख चेक किए जाएंगे और संलिप्तता पाए जाने पर कार्रवाई होगी।

पुलिस के मुताबिक, ये लोग संगठित गिरोह के तौर पर काम रहे थे। 17 वर्षीय किशोरी को रुपये का लालच देकर एग डोनेशन के लिए तैयार किया था। फर्जी तरीके से किशोरी का आधार कार्ड बनवाकर उसकी उम्र बढ़ा दी गई, फिर IVF सेंटर ले जाकर घटना को अंजाम दिया गया।

MORE NEWS>>>वो मुद्दे जो मध्य प्रदेश के प्रचार में छाए रहे, सनातन से राम मंदिर तक… किसके प्रचार पर भरोसा करती है जनता

Leave a Comment